Home / Animal Husbandry / पशु प्रेम एवं पशु कल्याण का सामाजिक जीवन में महत्तव

पशु प्रेम एवं पशु कल्याण का सामाजिक जीवन में महत्तव

के. एल. दहिया, पशु चिकित्सक

राजकीय पशु हस्पताल, हमीदपुर (कुरूक्षेत्र) हरियाणा

अपने भी साथ छोड़ देते हैं लेकिन पशु खासतौर से कुत्ते इतने वफादार होते हैं कि वह कभी भी अपने मालिक रूपी साथी का साथ नहीं छोड़ते हैं। आज जब मनुष्य एकाकी जीवन जीने के लिए मजबूर हो जाता है, तब यही पशु उनके जीने का सहारा बनते हैं। दोनों ही अपनी-अपनी धुन में एक-दूसरे के सहारे अपना जीवन व्यतीत करते हैं।

पशु-प्रेम-एवं-पशु-कल्याण-का-सामाजिक-जीवन-में-महत्तव

PDF Embedder requires a url attribute
+1-01 rating

About admin

Check Also

थिलेरियोसिस : रोमंथी पशुओं में एक घातक संक्रमण

के.एल. दहिया1, संदीप गुलिया1 एवं प्रदीप कुमार2 1पशु चिकित्सक, पशुपालन एवं डेयरी विभाग, कुरूक्षेत्र, हरियाणा। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *