Home / Horticulture

Horticulture

पर्यायवरण एवं मानव हितैषी फसल अवशेषों का औद्योगिक एवं भू-उर्वरकता प्रबंधन

के.एल. दहिया1, आदित्य2 एवं जे.एन. भाटिया3 1पशु चिकित्सक, राजकीय पशु हस्पताल, हमीदपुर (कुरूक्षेत्र) हरियाणा2स्नातकोतर छात्र (पादप रोग), बागवानी एवं वानिकी महाविद्यालय नेरी, हमीरपुर (हिमाचल प्रदेश) 3सेवानिवृत प्रधान वैज्ञानिक (पादप रोग), कृषि विज्ञान केन्द्र, कुरूक्षेत्र, हरियाणा फसल कटाई की बात चाहे हाथ से हो या आधुनिक औद्योगिक क्रांन्ति के दौर में …

Read More »

फसल अवशेष न जलाने के लाभ: अतिरिक्त धनोपार्जन

के.एल. दहिया1, आदित्य2 एवं जे.एन. भाटिया3 1पशु चिकित्सक, राजकीय पशु हस्पताल, हमीदपुर (कुरूक्षेत्र) हरियाणा2स्नातकोतर छात्र (पादप रोग), बागवानी एवं वानिकी महाविद्यालय नेरी, हमीरपुर (हिमाचल प्रदेश)3सेवानिवृत प्रधान वैज्ञानिक (पादप रोग), कृषि विज्ञान केन्द्र, कुरूक्षेत्र, हरियाणा उचित प्रबंधन न होने के कारण किसान को अगली फसल की बिजाई हेतु खेत को तैयार …

Read More »

An Ecofriendly Approach: Zero Tillage

Dr. Mamta Phogat1, Dr. Rita Dahiya2 and Aditya3 1 & 2 Department of Soil Science, CCS HAU, Hisar, Haryana3M.Sc. Student Plant Pathology, Dr. Y S Parmar University of Horticulture and Forestry, COHF-Neri, Hamirpur, Himachal Pradesh Zero tillage is the most significant aspect of conservation farming, takes care of soil health, …

Read More »

फसल अवशेष जलाना: मानवता और पर्यावरण के लिए खतरा

के.एल. दहिया1, आदित्य2 एवं जे.एन. भाटिया3 1पशु चिकित्सक, राजकीय पशु हस्पताल, हमीदपुर (कुरूक्षेत्र) हरियाणा2स्नातकोतर छात्र (पादप रोग), बागवानी एवं वानिकी महाविद्यालय नेरी, हमीरपुर (हिमाचल प्रदेश)3सेवानिवृत प्रधान वैज्ञानिक (पादप रोग), कृषि विज्ञान केन्द्र, कुरूक्षेत्र, हरियाणा बढ़ती आबादी की खाद्यान्न आपूर्ति को पूरा करने के लिए उत्पादन बढ़ाना ही होगा और इसी …

Read More »

International Web-Conference on New Trends in Agriculture, Environment & Biological Sciences for Inclusive Development (NTAEBSID – 2020

International Web-Conference on New Trends in Agriculture, Environment & Biological Sciences for Inclusive Development (NTAEBSID) – 2020 June 21 – 22, 2020 Organized by Agro Environmental Developmental Society (AEDS), India Co-Organized by National Agriculture Development Co-operative Ltd., Baramulla, India (Under Ministry of Cooperatives Babasaheb Bhimrao Ambedkar University (A Central University), …

Read More »

Omnipresent Plastics: Its Adverse Affects in Animals

K L DAHIYA1, ADITYA2, PARVEEN KUMAR3 & J N BHATIA4Veterinary Surgeon, GVH Hamidpur1 & Ramsaran Majra3 (Kurukshetra), Haryana, India2*Student M.Sc (Agri.) Plant Pathology, Dr. Y S Parmar University of Horticulture and Forestry, College of Horticulture and Forestry, Neri – Hamirpur, H.P, India.4Retired Professor (Plant Pathology) CCS HAU Hisar, Haryana, IndiaSince …

Read More »

ब्ल्यू ऑयस्टर मशरुम की खेती

आदित्य (स्नातकोत्तर छात्र), डॉ. आर एस जरियाल (वैज्ञानिक), डॉ. कुमुद जरियाल (सहायक प्रोफेसर) पादप रोग विज्ञान विभाग डॉ. वाई. एस. परमार बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय बागवानी एवं वानिकी महा विद्यालय, नेरी (हमीरपुर), हिमाचल प्रदेश-177001 ब्ल्यू-ऑयस्टर-मशरुम-की-खेती-1 +606-0606 ratings

Read More »

लता वर्गीय पौधों से आमदनी के साथ-साथ उनकी छाँव में पशुओं को भी बचाएं गर्मी से

के.एल. दहिया1 एवं अत्तर सिंह2 पशु चिकित्सक, राजकीय पशु हस्पताल हमीदपुर1 एवं दबखेड़ा2 (कुरूक्षेत्र) हरियाणा पशुओं को गर्मी से बचाने के लिए पेड़ों की छाया अच्छी रहती है लेकिन अब भरपूर संख्या में छायादार पेड़ न होने के कारण कृत्रिम छाया जैसे कि पक्की या एस्बेस्टस शीट से बनी छत्त …

Read More »